PM Narender Modi Speech Highlights 12 May, 2020

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा दिए गए भाषण के मुख्य बिंदु 12 मई 2020

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 12 मई, 2020 को रात 8:00 बजे देश को संबोधित कियाI इसमें उन्होंने बहुत ही महत्वपूर्ण बातें कहीं जिन पर अमल करके भारत विश्व में 21वीं सदी के महानायक के रूप में उभर सकता हैI प्रधानमंत्री मोदी ने Covid-19 महामारी से सतर्क रहते हुए कड़ा मुकाबला करने को कहा, उन्होंने कहा कि हमें अपने संकल्प वह इच्छा शक्ति को मजबूत बनाना होगाI उन्होंने कहा 21वीं सदी भारत की होगी, उन्होंने भारत को 21वीं सदी में आगे बढ़ाने के लिए सबको साथ मिलकर चलने की ज़िम्मेदारी दी तथा उसका मार्ग भी सुझायाI

प्रधानमंत्री जी ने आत्मनिर्भर भारत की संकल्पना सुझाइ, उन्होंने कहा आज हम बहुत अहम मोड़ पर खड़े हैं, यह प्राकृतिक आपदा भारत के लिए एक संदेश और अवसर लेकर आई हैंI उन्होंने उदाहरण के लिए बताया कि जब कोरोना संकट शुरू हुआ तब भारत में एक भी PPE किट नहीं बनाई जाती थी परंतु आज प्रतिदिन दो लाख किट तैयार की जाती हैंI तथा N-95 मस्क नाम मात्र बनते थे, परंतु आज प्रतिदिन लगभग 2,00,000 तैयार किए जाते हैंI और यह हमने अपनी आपदा को अवसर में बदलने की इच्छा शक्ति के बल पर किया है, और यही इच्छा शक्ति भारत को आत्मनिर्भर बनने में मदद करेगीI

प्रधानमंत्री जी ने साथ ही साथ वसुधैव कुटुंबकम की संकल्पना को भी याद दिलाया, उन्होंने भारत की संस्कृति व संस्कार के चलते संपूर्ण जगत को एक परिवार होने की बात कहीI उन्होंने आत्मकेंद्रित आत्मनिर्भरता की बात नहीं कही, बल्कि आत्मनिर्भर बनकर समस्त संसार को चिंता मुक्त करने की बात कहीI उन्होंने कहा कि पृथ्वी को माता मानने वाला देश जब आत्मनिर्भर बनेगा तब, संपूर्ण विश्व की समस्याओं का समाधान होगाI भारत प्रगति करेगा तो विश्व प्रगति करेगाI प्रधानमंत्री जी ने कहा कि विश्व में भारत की दवाइयाँ कारगर साबित हो रही है, जिससे विश्व में भारत की भूरी भूरी प्रशंसा हो रही हैI विश्व को भारत से कई उम्मीदें हैं, कि वह मानव जाति के कल्याण के लिए बहुत कुछ दे सकता हैI उन्होंने बताया कि जब भारत सोने की चिड़िया था तब भी विश्व कल्याण की राह पर ही चलता थाI

प्रधानमंत्री जी ने बताया कि इस सदी की शुरुआत में वाई 2के(Y2K) कंप्यूटर जगत में एक संकट आया थाI जिसे भारत के टेक्नोलॉजी एक्सपर्ट्स ने दुनिया को उस संकट से उभारा थाI आज हमारे पास टैलेंट है, साधन है, हर चीज है, उनके बल पर हम आत्मनिर्भर बनेंगे उन्होंने कच्छ गुजरात भूकंप की त्रासदी का जिक्र किया, जिसके कारण सब कुछ तहस-नहस हो गया थाi लेकिन देखते ही देखते कच्छ उठ खड़ा हुआ, चल पड़ा व दौड़ने लगाI यही हम भारतीयों की संकल्प शक्ति है, आज हमारे पास आगे बढ़ने की चाह है और राह भी हैI

आत्मनिर्भरता के 5 पिलर

प्रधानमंत्री जी ने आत्मनिर्भरता के पांच पिलर बताए हैं वे इस प्रकार हैं
1. इकोनामी जोकि धीरे-धीरे ना बढ़कर एक दम से क्वांटम जंप लगाएI
2. इंफ्रास्ट्रक्चर जो आधुनिक भारत की पहचान बनेI
3. सिस्टम जो 21वीं सदी के सपनों को पूरा करने वाला होI
4. डेमोग्राफी जो कि हमारी ताकत है, और जो हमारी आत्मनिर्भरता के लिए ऊर्जा का स्त्रोत हैI
5 डिमांड, हमारी अर्थव्यवस्था में Demand-Supply की चेन को मजबूत बनाना हैI

हमारी सप्लाई चेन आपूर्ति को मजबूत करेगी, इस आपूर्ति में हमारे देश की मिट्टी की महक होगी, व हमारे मजदूरों के पसीने की खुशबू होगीI ऐसा कहकर प्रधानमंत्री जी ने यह संदेश दिया कि हमें देश में सभी वस्तुओं का उत्पादन करना होगा व उन्हीं का उपयोग करना होगाI

भारत को आत्मनिर्भर बनाने के लिए पैकेज की घोषणाI

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि, हाल ही में सरकार द्वारा कोरोना संकट से जुड़ी आर्थिक घोषणाओं को तथा नए पैकेज को मिलाकर लगभग 20 लाख करोड रुपए का पैकेज दियाI जो भारत की जीडीपी का लगभग 10% हैI यह पैकेज 2020 में आत्मनिर्भर भारत अभियान को गति देने में सहायक होगाI इस पैकेज से लैंड लेबर लिक्विडिटी और लॉस आदि सभी पर पर बल दिया हैI यह पैकेज कुटीर उद्योग, गृह उद्योग, लघु मंजिले उद्योग के लिए हैI जो करोड़ों लोगों की आजीविका का साधन हैI यह पैकेज श्रमिक किसान मध्यवर्गीय लोगों उद्योग जगत के लिए है, इसकी संपूर्ण जानकारी वित्त मंत्री द्वारा कुछ दिनों तक दी जाएगीI

प्रधानमंत्री जी ने कहा आत्मनिर्भरता आत्मबल और आत्मविश्वास से ही यह संभव हो सकता हैI इससे आने वाली ग्लोबल सप्लाई चैन में कड़ी स्पर्धा के लिए देश को तैयार रहना है, और भारत को हर स्पर्धा में जीतना होगाI उन्होंने बताया कि आर्थिक पैकेज में भारत को ग्लोबल सप्लाई चैन में जीत दिलाने के लिए सारी व्यवस्थाएं की गई हैंI इससे भारत के मेटेरियल की क्वालिटी भी बेहतर होगीI प्रधानमंत्री ने रेहड़ी वाले, ठेले वाले, पटरी पर सामान बेचने वाले घरों में काम करने वाले लोगों के कष्टों का जिक्र किया और कहा कि उन्होंने इस दौर में बड़े कष्ट सहे हैंI हम सबने उनकी अनुपस्थिति को महसूस किया हैI अब हमें उन्हें सशक्त करने का समय हैI इसे ध्यान में रखते हुए गरीब मजदूर, किसान, पशु पालक, मछुआरे आदि हर तबके के लिए आर्थिक क्षेत्र में सबका ध्यान रखा गया हैI उन्होंने बताया संकट के समय लोकल मार्केट ने हमें बताया है, तथा हमें लोकल को अपनाना होगाI

उन्होंने बताया कि जो आज ग्लोबल ब्रांड है, वह कभी लोकल थेI लेकिन उनके इस्तेमाल प्रचार से वे प्रोडक्ट ग्लोबल ब्रांड बन गए हैंI इसलिए हर भारतवासी को लोकल के लिए vocal बनना है, मतलब उनको खरीदने के साथ-साथ उनका प्रचार-प्रसार भी करना हैI उन्होंने खादी को भारत में ब्रांड बनने की बात बताई कि उसे किस तरह से भारत वासियों ने ब्रांड बनायाI उन्होंने करोना से बचने के नियमों का पालन करते हुए अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए कहाI तथा साथ ही साथ लॉक डाउन 4 की बात कही, जिसकी जानकारी मई 18 मई से पहले दी जाएगीI
धन्यवादI

Scroll to Top
Send this to a friend